इस दुबले पतले हास्य कवि को सुनकर श्रोता हंस हंस कर पागल हो गये