Jhalawar - प्यार और रिश्ते

उस जैसा मोती पूरे समंद्र में नही है, वो चीज़ माँग रहा हूँ जो मुक़्दर मे नही है, किस्मत का लिखा तो मिल जाएगा मेरे ख़ुदा, वो चीज़ अदा कर जो किस्मत में नही है…