Ratlam - राय और मत

गुरुजी ने किया ऐसा काम कि नाचने लगा पूरा गांव ! | mptak

स्वामी विवेकानंद जी से जानिए चंदन के खंबे देकर कर्ण कैसे कहलाया दानवीर || sanskar audio story

40,000 से के कर 63,000 के बीच में एच-एफ गाय बिकाऊ हैं।।

आरिफ मसूद की चेतावनी का जवाब देने उतरी बीजेपी की महिला ब्रिगेड ! | mptak

कमलनाथ सरकार में हनी ट्रैप का सच दिखाना पड़ गया भारी ! mptak

स्वामी विवेकानंद जी से जानिए मूर्ति पूजा सही है या गलत | sanskar audio story

तब गिलहरी ने रामसेतु बनाने में दिया था योगदान || sanskar audio story || must watch

दिग्विजय सिंह ने पूछा, भोपालवालों आपकी क्या राय है प्रज्ञा के बारे में ? | mptak

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन हटाकर बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार बनाने का यह घटनाक्रम उस वक्त हुआ है जब एक दिन पहले ही शिव सेना, एनसीपी और कांग्रेस के नेताओं के बीच उद्धव ठाकरे को सीएम बनाने को लेकर सहमति बनी थी। शरद पवार ने शुक्रवार को ख़ुद इस बात की जानकारी दी थी। आज ये तीनों पार्टियां मिलकर बाक़ी मुद्दों पर चर्चा करने वाली थीं मगर सुबह-सुबह देवेंद्र फणनवीस और अजित पवार ने मुंबई में राजभवन में शपथ ग्रहण कर ली। आइए देखें शुक्रवार रात और शनिवार सुबह के बीच कितने बजे क्या क्या घटाः शुक्रवार रात पौने बारह के आसपासः अजित पवार और भाजपाकी सौदेबाजी को अंतिम रूप दिया गया शुक्रवार रात 11.55 बजेः फणनवीस ने पार्टी से बात की और कहा कि शिवसेना−कांग्रेस−एनसीपी दावा करे, इससे पहले उन्हें शपथ ले लेनी चाहिए। शनिवार सुबह 12.30 बजेः गवर्नर कोश्यारी को दिल्ली आना था, उन्होंने अपनी यात्रा रद्द कर दी। शनिवार सुबह 2.10 बजेः राज्यपाल के सिचव को कहा गया कि वे राष्ट्रपति शासन का आदेश 5.47 बजे वापस लें और 6.30 पर शपथग्रहण रखवाएं शनिवार सुबह 2.30 बजेः सचिव ने कहा कि वे दो घंटे में फाइल तैयार कर देंगे, 7.30 का समय शपथग्रहण के लिए सुझाया क्योंकि तैयारियां करनी होंगी शनिवार सुबह 5.30 बजेः देवेंद्र फणनवीस और अजित पवार पहुंचे राजभवन शनिवार सुबह 5.47 बजेः राष्ट्रपति शासन हटा लिया गया। शनिवार सुबह 7.50 बजेः कोश्यारी ने शपथग्रहण शुरू करवाया शनिवार सुबह 8.40 बजेः प्रधानमंत्री मोदी ने नए सीएम और डिप्टी सीएम को शुभकामना भेजी शपथ लेने के बाद फणनवीस ने कहा− लोगों ने हमें स्पष्ट बहुमत दिया था लेकिन शिवसेना ने नतीजे आने के बाद दूसरी पार्टियों का दामन थाम लिया। इस कारण राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया।

आइए जानें क्रोध को कैसे करें 'काबू' || sanskar audio story || must watch video