Sirohi - देश और समाज

सिरोही आदर्श विद्या मंदिर माध्यमिक पोसालिया में आज मातृशक्ति सम्मेलन का आयोजन किया गया

सिया के बिना राम, लक्ष्मी के बिना नारायण , गौरी के बिना शंकर और राधा के बिना कृष्ण, सोच सकने वालों का जीवन न केवल रस, ध्येय और सार्थकता हीन है अपितु अधूरा और निरर्थक भी है ! आइए नवरात्र के पूर्णकाम क्षणों में “देवि-लक्ष्मी-शारदा-शक्ति-माँ-भगिनी-भार्या-पुत्री-संगिनी” का रूप लेकर हमारे जीवन में प्रतिपल उपस्थित उस आदि-चेतना को महाकवि जयशंकर प्रसाद के शब्दों में सादर प्रणाम करें ❤️🙏