Surat - प्यार और रिश्ते

🤔 जब से तेरे शहर में आई हुई हूँ मैं , लगता है खुशबुओं में नाहाई हुई हूँ मैं! एक हास्य रचना 😄

रावण का राज नहीं रामजी के राज में अपने ही घर से निकाली गयी जानकी ! मजेदार कविता 🤔😯

એક માતા ની વ્યથા

हास्य का झटका 😃🤑😄

तेरी हमराज हूँ मैं ! कविता 🙏